Friday, September 24, 2010

Know about Eggs

हम जब इंजीनियरिंग में  पढते थे , तब की ही बात है| चार दोस्त हुआ करते थे; बड़े, छोटे, मीडियम और क्योंच्हन  | हमनें मिल कर उसका नाम भाई ग्रुप रखा था | लम्बाईयों पर हमारा नाम रखा गया था, छाबरा सबसे छोटा था तो वो बन गया छोटे, मैं मीडियम और प्र्तयुष बन गया बड़े | बाद में आया कुक्कड़, चुइंकी वो प्रशं ज्यादा पूछता था , उसे हमने  क्योंच्हन बना दिया|  वैसे उसका असली नाम अंकित है, लेकिन शायद ही उसको कोई इस नाम से बुलाता होगा, नजदीक वालें तो बिलकुल नहीं|

हम साथ कॉलेज तो कभी भी नहीं जाते थे, पर ठीक साढ़े बारह बजे दिन का खाना ज़रूर साथ करते थे | नीरू उस मेस का कर्ताधर्ता था, यूँ तो संध्या मेस नाम था, जहां हम सभी खाना खाते थे पर नीरू से बहुत ही लगाव होने के कारण हम सब उसे "नीरू मेस" बुलाते थे |  मजेदार आदमी था नीरू, हमारा अकाउंट उसके यहाँ चलता था बिना किस्सी तकलीफ़ के | मेस का मासिक खर्च कुल मिलकर कुछ ४०० रुपयें हुआ करते थे | फिर भी हम चारों का बिल हमेशा १२००/- से ज्यादा हुआ करता था | और उसका कारण था "छाबरा" | जी नहीं, हमारा दोस्त छाबरा नहीं, बल्कि its a delicacy |

हुयां यूँ की कमल छाबरा हर रोज़ Egg Fry खाने के साथ आर्डर किया करते थे | हम लोग कहाँ पीछे रहने वाले थे | कुक्कड़ जैन होने के बावजूद मांसाहार का सेवन करता था | शायद संगत का असर होता है | खैर , हम चार लोग तो आर्डर भी चार प्रकार के | किस्सी को Double Egg Fry , तो किसी को Single Egg fry , या दो अंडे का  Double Egg Fry , या एक अंडे का  Double Egg Fry वगैरह वगैरह | पर अंडे सबको खाने थे वरना दक्षिणी भारत का खाना हमें कहाँ रास आता है | अंडे ने हमें हमेशा खाने के लिए प्रेरित किया | 
हम अपना आर्डर हमेशा नीरू को ही देते थे, जल्दी के लिए | छाबरा का एक अंडे का Double  Fry fixed आर्डर हुआ करता था, क्यूंकि वो कुछ और खाता नहीं था | मैं नीरू को हमेशा बोलता था जो छाबरा ने आर्डर किया उसका double या single ले आओ | धीरे धीरे हम सभी DOUBLE CHHABRA या SINGLE CHHABRA बोलने लगे, विथ और विथआउट मसाला | च्यूंकि हमलोग Dude हुआ करते थे, तो देखादेखी हमारे बाकी के दोस्त लोग भी Double Egg Fry को छाबरा कह कर पुकारने लगे | 

आज पुरे पाँच साल बाद भी अगर आप नीरू मेस जायेंगे तो बच्चे लोग आपको छाबरा आर्डर करते नज़र आयेंगे |
हमारा छाबरा दावनगेरे में वर्ल्ड फेमस हो गया, वो भी एक अंडे के डिश के रूप में|

 Single "Double छाबरा"  with masala

Single "Single छाबरा"  without masala


Double "Single छाबरा"  without masala


Double "Single छाबरा"  with masala


Double "Double छाबरा"  without masala



Confused--

Chhabra is simply Fried Eggs, fried on both sides with the yolks broken until set or hard. It can "Over Well" or "Over Hard " where , yolk is cooked from both sides until solid. However It can also be "Over medium" with Yolk cooked from both side but still not so hard.

While Single Chhabra is like Runny Yolk or "Sunny Side Up" or it is also termed as "Poached" or "Bull's Eye".


अरे भाई अब जल्दी से एक Double "Double छाबरा" लेते आओ मेरे लिए, और हाँ कारा ज्यास्थी....

7 comments:

Gautam said...

hehe!! though you told me this a day before , the writeup is more hilarious. :)

Saurabh said...

Thanks Dogra

Stuti Pandey said...

ha ha ... really cool! aaj to mera bhi nashta 'double chhabra' hoga... ;-)

Saurabh said...

sure add masala

kamal said...

hahahaha........

awesome! going skydiving tomorrow. jal saale jal.

chhote out.

kamal said...

hahahahaha.........

awesome.going skydiving tomorrow. jal saale jal.

chhote out.

Saurabh said...

nahin chhabra, wait, akele nahin